Home » jivan me asafalta ke karan kya he | असफलता के मुख्य 7 कारण

jivan me asafalta ke karan kya he | असफलता के मुख्य 7 कारण

jivan me asafalta ke karan kya he | असफलता के मुख्य 7 कारण

Asafalta Ke Karan | 7 reason of failure in a life

      क्या आप सभी अपने सपने पुरा करना चाहते हैं ? जीवन में सफलता प्राप्त करना चाहते हैं ?लेकीन, जीवन में आपको बार बार असफलता का मुंह देखना पड़ रहा है ? आपके बार बार प्रयास करने पर भी आपको सफलता हाथ नहीं लग रही है। तो आपकी असफलता के पीछे asafalta ke karan होते हैं। तो क्या आप उन कारणों के बारे में कुछ जानते हैं यां फिर जानना चाहते हैं ? यदि हां तो आज हम उन कारणो के बारे में विस्तार से जानेंगे।

   यदि आप भी अपने जीवन में सफल होना चाहते हैं, अपने सपने पुरा करना चाहते हैं, बहुत सारे पैसे कमाना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही जगह पर ही आए हैं। आज हम असफलता के हर एक कारण के बारे में पुरा विस्तार से बात करने वाले है। आप भी देखिए, कहीं आप भी अपने जीवन में ये गलतियां तो नहीं कर रहे हैं ना।

  इस दुनिया में अलग अलग लोगों के अलग अलग सपने होते है। कोई चाहता है कि उसे अच्छा घर या बंगला मिल जाए, कोई महंगी महंगी गाड़ियों का शौख रखता है। कोई बहुत ज्यादा पैसा कमाना चाहता है तो कोई दुनियां में famous होना चाहता है, अपना नाम ऊंचा करना चाहता है।

asafalta ke karan

asafalta ke karan। असफलता के मुख्य 7 कारण 

asafalta ke karan
asafalta ke karan

1. अपना लक्ष्य निर्धारित ना करना :

     ये एक ग़लती जीवन में अनेकों लोग करते हैं, की वो जीवन में अपना कोइ लक्ष्य ही नहीं निर्धारित करते है। दुनिया में अनेकों व्यक्ति चाहते हैं कि वो जीवन में सफल हो जाए। दुनिया में हर व्यक्ति सफल होना चाहता है। पर यदि सबसे पहले आपको ये पता नहीं होगा कि, आपको जाना कहां है तो आप उस जगह पहुंच कैसे पायेंगे।

     अलग अलग व्यक्ति तरह तरह के सपने देखते हैं।  हर व्यक्ति ये चाहता है कि उसके सपने जल्द ही साकार हो जाए, उसके लिए उसे ज्यादा राह ना देखनी पड़े। पर जब तक आप कोई लक्ष्य नहीं तय करेंगे तब तक वो पूरा किस तरह से होगा ?

    कई सारे लोग अपना कोई लक्ष्य ही नहीं निर्धारित करते हैं और ऐसे ही मेहनत किया करते हैं और यही बात asafalta ke karan बन जाती है। फिर बोलते हैं कि उनके सपने पूरे नहीं हो रहे हैं, उनको सफ़लता प्राप्त नहीं हो रही है। लेकीन जब तक आप कोई निश्चित लक्ष्य नहीं तय करेंगे, आपका दिमाग भी अपनी एनर्जी इधर उधर के कामों में वेस्ट करता रहेगा।

asafalta ke karan

   क्योंकी दिमाग़ को मालूम ही नहीं है कि, आखिरकार कोनसा लक्ष्य हासिल करना है ? तो उसके अंदर उस बारे में ख्याल ही कहां से आएंगे। और जब तक आपका दिमाग़ किसी वस्तु को हासिल करने के लिए ज़रूरी तर्क वितर्क नहीं करेगा तब तक आपको वो वस्तु हासिल कैसे होगी ?

    कहने का अर्थ बस इतना ही है कि जब तक आप अपना लक्ष्य निर्धारित नहीं करते, तब तक आपकी पुरी मेहनत अलग अलग दिशा बट जायेगी। आपको यदि पानी चहिए तो आपको, कोइ एक जगह तय करनी पड़ेगी और उस जगह पर बहुत ही गहरा गड्ढा खोदना पड़ेगा। सफ़लता का भी कुछ वैसा ही है।

asafalta ke mukhya karan

2. लोगों के साथ जुड़ने का अभाव :

asafalta ke mukhya karan
asafalta ke mukhya karan

    कई सारे व्यक्ति ये एक आसान सा काम नहीं कर पाते है। आपको यदि किसी भी क्षेत्र में सफलता प्राप्त करनी है तो आपको सबसे पहले इस क्षेत्र सेई से जुड़े हुए लोगो से कोइ न कोई कनेक्शन जरूर बनाना पड़ेगा। आपको लोगों के साथ अपना एक अलग रीलेशन बनाना पड़ेगा।

    जैसे कि आप यदी hero बनना चाहते हैं तो आपको अच्छे अच्छे फोटोग्राफ खींचकर इंटरनेट पर डालने होंगे। Social media पर भी आपको लोगों के अपने फोटो के ऊपर आ रहें like, comments और शेयर का जवाब देना चाहिए। लोग आपको फॉलो करेंगे, आपको पसंद करेगें। और फिर आपकी फिल्मे भी देखेंगे।

   और भी कई सारे दूसरे फैक्टर को लेकर लोग आपको पसंद करेगें। जैसे कि कोई अच्छा cricket खेल रहा है तो वो उस तरह से, लोगों से जुड़ा हुआ है। हर एक व्यक्ति का अपना अपना तरीका होता है।

यह भी पढे_ Safalta ka Rahasya Kya Hai। Secret Of Success

Best 124 Life Quotes In Hindi। Life Status  

Best 100 Good Morning Quotes In Hindi। सुप्रभात सुविचार

Best 127 small thoughts in hindi and english

   मान लीजिए कि आप ने कोई नई कंपनी शुरु की है और वह धीरे धीरे विकास कर रही है। तो  वह कंपनी का विकास आपके अकेले से थोड़ा हो पायेगा आपको अपनी कंपनी चलाने के लिए कई सारे लोगों की भी जरूरत पड़ेगी ना। और फिर आपको अपना प्रोडक्ट बेचने के लिए भी कई सारे लोगों से जुड़ना होगा यानी आप प्रोडक्ट के मार्केटिंग थ्रू कई सारे लोगों से जुड़ेंगे। कई सारे लोग लोगों से जुड़ नही पाते है और फिर यही उसकी asafalta ke karan बन कर रह जाती है।

asafalta ki kahani

3. अपना लक्ष्य भूल जाना : 

asafalta ki kahani
asafalta ki kahani

    कई सारे लोग क्या करते हैं ना कि वो शुरु में कोई अच्छा सा लक्ष्य तय करते हैं। फिर उसके ऊपर धीरे धीरे से काम करना शुरु कर देते हैं। अपने लक्ष्य को ध्यान में रखकर उसे पूरा करने के लिए अपनी जी_जान तक लगा देते हैं। पर कुछ समय बाद जब लक्ष्य पूरा नहीं होता तो अपनी मेहनत कम कर देते हैं।

   तो कई सारे लोग अपने लक्ष्य के उपर ध्यान नहीं दे पाते है और अपने रोजाना कामों में उलझ जाते है। फिर धीरे धीरे लक्ष्य के उपर से उनका focus भी हट जाता हैं और कभी कभार कई सारे लोगों को लक्ष्य प्राप्ति की दिशा का पता भी नहीं होता, ये भी asafalta ke karan में से एक है।  जब लक्ष्य के उपर से आपका कोई फोकस ही नहीं रहेगा यां आपकों लक्ष्य प्राप्ति की दिशा का पता नहीं है तो आपको लक्ष्य प्राप्त किस तरह से हो सकता है ? फिर धीरे धीरे वो लोग अपने लक्ष्य को भी भूल जाते है और अपनी रूटीन जिंदगी में उलझ जाते है।

असफलता से सीख

4. आत्मविश्वास की कमी होना :

असफलता से सीख
असफलता से सीख

   दुनिया में ऐसे अनेकों लोग हैं जो कुछ करना चाहते हैं, कुछ बनना चाहते हैं अपने सपने पूरा करना चाहते हैं पर उनके अन्दर इक सबसे बडी कमी होती है और वह है आत्मविश्वास का अभाव। कई सारे लोग खुद पर विश्वास ही नहीं रख पाते हैं, उन्हें बार बार अपने काम पर डाउट होता रहता है कि, मैने ये सही किया है या गलत किया है। यदि ये गलत निकला तो ? ये भी asafalta ke karan में एक है।

   सबसे पहले तो यदि आपको किसी भी तरह के लक्ष्य को पाना है तो आपको खुद पर, अपने आप पर  विश्वास करना सीखना होगा। आप अपनी काबिलियत पर बार बार शक मत किजिए। जो काम दूसरे लोग कर सकते है वो आप भी कर सकते है। 

इसे भी पढ़ें_ Best 43 sandeep maheshwari quotes in hindi and english

Top 45+ elon musk quotes hindi and english

Best 77 swami vivekananda motivational quotes in hindi and english

   जो लॉग सफ़ल हुए हैं वो भी आपकी ही तरह सिर्फ एक इंसान ही तो हैं। वो भी कुछ समय पहले आपकी तरह ही असफल रहे होंगे, है ना। बाद में उन्होंने कोई लक्ष्य निर्धारित कर के अपने आप पर विश्वास कर के कोई कार्य शुरु किया होगा। फिर उसमे पूरी मेहनत की होगी हार्डवर्क किया होगा , स्मार्ट वर्क किया होगा, स्ट्रगल किया होगा और इसके बाद उनको सफलात प्राप्त हुई हो होगी। 

asafalta ke karan

   तो आप भी कोई लक्ष्य निर्धारित कर के उसे जरूर हासिल कर सकते है, उसमे कोई बडी बात नहीं है। पर जरुरत है आपको खुद पर यकीन करने की अपने आप पर विश्वास करने की। आप पहले कोई भी कार्य शुरु करने से पहले उस कार्य को लेकर अपनी योग्यता चेक कर लें पर बाद में कार्य शुरु होने के बाद बार बार अपने आप पर डाउट करने का कोई मतलब नहीं है। तो खुद पर यकीन किजिए, पूरा आत्मविश्वास रखिए और किसी भी लक्ष्य को प्राप्त किजिए।

asafalta ek chunauti hai

5. लक्ष्य को पाने के लिए पूरा प्रयास ना करना :

 

asafalta ek chunauti hai
asafalta ek chunauti hai

  कई सारे लोग किसी से इंस्पायर होकर यां फिर किसी को देखकर कोई बडा लक्ष्य हांसिल करने की सोचते हैं और उसमे अपनी मेहनत करना शुरु कर देते हैं। शुरु शुरु मे तो उनका उत्साह बड़ा जोरदार होने की वजह से वो काम करने में भी ज्यादा ध्यान लगाते हैं और अपनें लक्ष्य की तरह बढ़ने लगते है।

   पर धीरे धीरे वक्त के साथ साथ उनकी मेहनत और जोश दोनो कम पड़ने लगते है। कई बार लोग थोड़ा सा प्रयास कर के किसी काम को छोड़ देते हैं कि ये अपने बस कि बात नहीं है। ये कार्य में नहीं कर पाऊंगा यां हम नहीं कर पाएंगे। लेकिन कई बार लोग किसी कार्य की जड़ तक नहीं जा पाते है, और बीच में ही काम अधूरा छोड़ देते हैं। यही बात asafalta ke karan बन कर रह जाती है।

    यदि आपको किसी लक्ष्य को प्राप्त करना है तो आपको किसी भी कार्य कि जड़ तक जाना होगा। थोड़ा थोड़ा उपर उपर से प्रयास करने से कुछ नहीं होगा। किसी भी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए जोरदार प्रयास किजिए। यदि आपको सच्चे मोती चहिए तो समंदर के अन्दर बहुत दूर तक जाना होगा, उपर उपर से किनारे बैठ कर पानी में गोते लगाने से कुछ नहीं हासिल होता है।

    आपको प्रयास करना है तो शेर की तरह एक जोरदार प्रयास किजिए, जैसे शेर एक ही पंजा मार कर बड़े बड़े जानवरों को धूल चटा देता है ठिक वैसे ही आप अपने लक्ष्य के उपर भी मेहनत किजिए। यदी आप किसी भी कार्य में पूरी मेहनत करेगें तो आपको सफलता प्राप्त करने के लिए कोई नही रोक सकता है, आपकी मेहनत सही दिशा में होनी चाहिए।

सफलता और असफलता

6. लोगो का सामना करने का डर :

सफलता और असफलता
सफलता और असफलता

कई सारे लोग जब अकेले होते हैं यां फिर अपने दोस्तों के साथ होते हैं तब तो वह बडी बडी डींगे मारते हैं, मुझे ये करना है, मुझे वो करना है। मैं ये कर सकता हूं , मैं वो कर सकता हूं पर जब कोई अंजान लोगो के सामने यां फिर स्टेज पर कई सारे लोगों के सामने कुछ बोलाना होता है तब उनकी बोलती ही बंद हो जाती है।

    इसे कहते हैं स्टेज फियर stage fear. कई सारे लोग स्टेज पर आने से डरते हैं ये asafalta ke karan में से ही एक है। वो लोगों के सामने स्टेज पर आके दो लाइन तक नहीं बोल पाते है, उनका शरीर कांपने लगता है, उनकी जीभ अटकने लगती है। कई बार तो उन्हें ये भी समझ में नहीं आता कि आगे क्या बोलूं, कई बार जो कुछ याद कर के स्टेज पर बोलने आए होते हैं वो भी डर के मारे भूल जाते है।

    आपको यदि अपने जीवन में सफ़लता प्राप्त करनी है तो आपको स्टेज फियर को सदा सदा के लिए अलविदा कह देना होगा। एक सफ़ल व्यक्ति यां फिर सफ़लता के मार्ग पर अग्रेसर हो रहे व्यक्ति मे अपनी बात लोगों के सामने रखने में किसी भी प्रकार का डर  नहीं होना चाहिए। उसे खुलकर अपनी बात लोगों के सामने रखनी चाहिए और इतना ही नहीं बल्कि लोगों की बात और उनकी समस्याएं भी सुननी चाहिए।

7 reason of failure in a life

7. समस्याओं को ना सुलझा पाना :

7 reason of failure in a life
7 reason of failure in a life

अनेकों लोग जोश में आकर अपना कोई बिजनेस स्टार्ट कर देते हैं, अपना कोई नया काम शुरू कर देते हैं। लेकिन वो कहते हैं ना कि आप कोई भी काम शुरु करते हैं तो समस्याएं अपने आप पैदा होती रहती है।  दुनिया में कोई भी काम ऐसा नहीं है जो बिना किसी समस्या का सामना किए पूरा हो सके। हर एक काम में काम के अनुसार विभिन्न तरह कि समस्याएं आती रहती है। 

asafalta ke karan

    पर यदि व्यक्ति उन समस्याओं को समय पर ना सुधारे तो धीरे धीरे समस्याएं बडी होती चली जाती है। और कई बार तो व्यक्ति को अपना लक्ष्य तक पहुंचने भी नही देती है। इसलिए आपको किसी भी कार्य में अपना लक्ष्य हासिल करना है तो आपमें लक्ष्य को प्राप्त करने के रास्ते में जो भी समस्याएं आती रहती है उनको समय समय पर सुलझाना पड़ेगा। नही तो आगे जाकर वो समस्याएं आपके लक्ष्य प्राप्ति के मार्ग में बाधा उत्पन्न कर सकती है।

   अचार्य चाणक्य ने चाणक्य नीति नामक ग्रंथ में बताया है कि, दुनिया में एसी कोई समस्या है ही नहीं जिसे कोई सुलझा ना सके। पर अधिकतर लोगो में एक कमी देखी जाती है कि वो सिर्फ समस्याओं को देखते ही चले जाते है पर उसे सुलझाने के लिए कोई ठोस निर्णय नही लेते। और फिर समस्याएं बडी हो जाई है और फिर उसे सुलझाना भी बडा कठिन हो जाता है फिर वो asafalta ke karan बन जाते है
। इसलिए किसी भी क्षेत्र में अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए समय पर समस्याओं को सुलझा लीजिए, सफ़लता आपके कदमों में होगी।

asafalta se safalta

   आपको यदि किसी भी क्षेत्र में सफलता प्राप्त करनी है, अपना लक्ष्य हासिल करना है तो आपको उस क्षेत्र का master बनना होगा। मतलब कि आपकों उस कार्य के हर एक पहलू को पूरा deep में जाकर समझना पड़ेगा। और आपका उस कार्य में intrest भी बहुत ज्यादा होना चाहिए, क्योंकि बीना intrest आपका जुनून भी उस कार्य में नहीं होगा।

   यदि हो सके तो आपको अपना लक्ष्य ही ऐसा निर्धारित करना चाहिए जिसमे आपका intrest बहुत ही ज्यादा हो आपके अंदर उस काम को लेकर बहुत ही ज्यादा जुनून हो। ये एक सफलता का रहस्य है।

तो ये थे asafalta ke karan मुझे उम्मीद है आपको पूरी बात समझ में आ गई होगी। और आपको ये अपना लक्ष्य प्राप्त करने में मदद करेगी।

तो मित्रों आशा करता हूं आप सभी को ये हमारा पोस्ट बहुत अच्छा लगा होगा। तो इसे अपने सभी मित्रों के साथ शेयर भी अवश्य करें।

धन्यवाद

SevenDayMotivations

Hello, friends, I am Bharat Wagh Site Admin of the SevenDemotivations.com. I am a mechanical engineer by profession but blogging is my passion.The main purpose of starting this site is to strongly motivate all the people. My heartfelt wishes are all people who have progressed a lot in life and become very successful.Thank You for Your Time